Pageviews last month

Monday, April 8, 2013


दिल की चौखट पर कोई दस्तक सी है...शायद कोई धड़क रहा आसपास ही है...

बस इस बार आओ के जाने का कोई बहाना ना हो तुम्हारे पास...
 
सब भूलकर सब छोड़कर बैठे रहो मेरे साथ....
 
मेरी खूबसूरती में...मेरी बातों में कोई कमी ना निकालना अबकी बार...
 
कुछ ऐसा करना की बात और साथ खूबसूरत बन जाए..


फिर रूठ कर जाने का कोई बहाना न बचे अबकी बार....

1 comment: